Menu

Raat Ke Saaye Tale Lyrics in Hindi of film Bullets

Raat Ke Saaye Tale Lyrics from hindi movie Bullets, the singers of this song are Aakanksha Sharma. Raat Ke Saaye Tale song lyrics are written by Rohit Sharma and music is composed by Raghav Sachar. Raat Ke Saaye Tale song is picturised on Karishma Tanna, Taha Shah.

Raat Ke Saaye Tale  song of film Bullets
11 Views

Lyrics in Hindi

रात के साए तले,
साँस साँस हैं जले
थाम लो लबों की नर्मियाँ
फिर यह पल मिले ना मिले
रात के साए तले,
साँस साँस हैं जले

ओढ़के जिस्मों की चाँदनी
बाहों में खोए रहे
आँखों को आँखों से
पीके सोए रहे

जो भी दरमियाँ कर दे बयाँ
ज़िंदगी का क्या भरोसा
कब हो यह धुआँ

Lyrics in English

Raat ke saaye tale,
Saans saans hain jale
Thaam lo labon ki narmiyan
Phir yeh pal mile naa mile
Raat ke saaye tale,
Saans saans hain jale

Odhke jismon ki chandni
Baahon mein khoye rahe
Aankhon ko aankhon se
Peeke soye rahe

Jo bhi darmiyan kar de bayaan
Zindagi ka kya bharosa
Kab ho yeh dhuan
रात के साए तले,
साँस साँस हैं जले

रोकते लम्हो के क़ाफ़िले
सुबह को होने ना दे
बहके बहके पल हैं जो
मिले सोने ना दे

आजा जाने जान थम जाए समा
बात का क्या भरोसा कब बदले समा
रात के साए तले
साँस साँस हैं जले
थाम लो लबों की नर्मियाँ
फिर यह पल मिले ना मिले
Raat ke saaye tale,
Saans saans hain jale

Rokte lamho ke qaafile
Subah ko hone na de
Behke behke pal hain jo
Mile sone na de

Aaja jane jaan tham jaye sama
Baat ka kya bharosa kab badle sama
Raat ke saaye tale
Saans saans hain jale
Thaam lo labon ki narmiyan
Phir yeh pal mile na mile

Lyrics in Hindi

रात के साए तले,
साँस साँस हैं जले
थाम लो लबों की नर्मियाँ
फिर यह पल मिले ना मिले
रात के साए तले,
साँस साँस हैं जले

ओढ़के जिस्मों की चाँदनी
बाहों में खोए रहे
आँखों को आँखों से
पीके सोए रहे

जो भी दरमियाँ कर दे बयाँ
ज़िंदगी का क्या भरोसा
कब हो यह धुआँ
रात के साए तले,
साँस साँस हैं जले

रोकते लम्हो के क़ाफ़िले
सुबह को होने ना दे
बहके बहके पल हैं जो
मिले सोने ना दे

आजा जाने जान थम जाए समा
बात का क्या भरोसा कब बदले समा
रात के साए तले
साँस साँस हैं जले
थाम लो लबों की नर्मियाँ
फिर यह पल मिले ना मिले

Lyrics in English

Raat ke saaye tale,
Saans saans hain jale
Thaam lo labon ki narmiyan
Phir yeh pal mile naa mile
Raat ke saaye tale,
Saans saans hain jale

Odhke jismon ki chandni
Baahon mein khoye rahe
Aankhon ko aankhon se
Peeke soye rahe

Jo bhi darmiyan kar de bayaan
Zindagi ka kya bharosa
Kab ho yeh dhuan
Raat ke saaye tale,
Saans saans hain jale

Rokte lamho ke qaafile
Subah ko hone na de
Behke behke pal hain jo
Mile sone na de

Aaja jane jaan tham jaye sama
Baat ka kya bharosa kab badle sama
Raat ke saaye tale
Saans saans hain jale
Thaam lo labon ki narmiyan
Phir yeh pal mile na mile